क्या कहते हैं यशपाल शर्मा जी के सितारे- डॉ आकांक्षा शर्मा

Akanshasharma

विश्व प्रसिद्ध भविष्यवक्ता( ज्योतिषी ) एवं अंकशास्त्री

यशपाल शर्मा जी एक मशहूर भारतीय अभिनेता एवं प्रसिद्ध थियेटर आर्टिस्ट हैं। उनका जन्म हिसार- हरियाणा में हुआ है और वे वहीं पर पले बढ़े हैं।
 
बचपन से ही उन्हें एक्टिंग का बहुत शौक़ था और वह दशहरे त्योहार के दौरान होने वाली रामलीला के आयोजन में बड़े उत्साह से भाग लिया करते थे।
 
यशपाल शर्मा जी, सुधीर मिश्रा द्वारा निर्देशित फ़िल्में “ हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी”, मैं निभाए गए अपने किरदार रणधीर सिंह के लिए जाने जाते हैं।
 
इसके अलावा उन्होंने बहुत सी सुपर हिट फ़िल्में दी है जिसमें लगान, गंगाजल, अब तक छप्पन, अपहरण, लक्ष्य, सिंह इज़ किंग, आरक्षण, और राउडी राठौड़ इत्यादि हैं।
 
उन्होंने जी़ TV पर प्रसारित होने वाले मशहूर धारावाहिक “ मेरा नाम करेगी रौशन” मैं कुंवर सिंह का रोल निभाया था जो लोगों को बहुत पसंद आया।
 
आइए अंक शास्त्र के अनुसार जानते हैं कि यशपाल शर्मा जी के सितारे क्या कहते हैं।
उनका जन्म 1 जनवरी 1967 को हुआ है ।इनका मूलांक नंबर 1 है, जो उनको उच्च दर्जे का स्वतंत्र व्यक्तित्व प्रदान करता है।
 
यह एक व्यक्ति को परिश्रमी बनाता है एवं ऐसी व्यक्ति अपने जन्म से ही नेतृत्व की भावना से भरपूर होते हैं। इनमें ऊर्जा और कला का उचित संगम होता है।
 
इनका भाग्यांक नंबर 7 है। अंक ज्योतिष के अनुसार भाग्यांक 7, यशपाल जी को ऊर्जावान व्यक्ति बनाता है।ये बहुत ही सहज स्वभाव के स्वामी हैं।
 
ऐसे व्यक्ति अपने करियर में जो भी क्षेत्र चुनते हैं, उसमें नए आयाम स्थापित करने में सक्षम होते हैं। भाग्यांक 7 इन्हें रहस्यमय आकर्षण व अद्भुत ऊर्जा प्रदान करता है।
 
दूसरे शब्दों में कहें तो ऐसे व्यक्ति ज्ञान का भंडार होते हैं और वे जीवन की गहराइयों को छूने की चेष्टा रखते हैं।
 
ऐसे व्यक्ति निष्ठावान होते हैं और वे अपने जीवन का असली मक़सद बहुत अच्छे से समझते हैं एवं आध्यात्मिक प्रवृत्ति के स्वामी होते हैं।
 
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, यशपाल जी शनी प्रधान व्यक्ति है और इनके लग्न में भी शनि बृहस्पति के घर में विराजमान हैं, जो इनको कड़ी मेहनत के बाद सफलता ज़रूर दिलवाते हैं।
 
इन्हें किसी के साथ अन्याय हो ना व अन्याय सहना बिलकुल भी स्वीकार्य नहीं है। लग्न के स्वामी का अपनी उच्चतम स्थिति में पंचम भाव में होना 1 राजयोग बनाता है, जिसके फलस्वरूप यशपाल जी अपने सभी कार्य बहुत समझदारी व सोच विचार के बाद ही करते हैं।
 
तृतीय भाव में राहु का होना इनकी वाणी को आकर्षक और शक्तिशाली बनाता है, जिसकी वजह से लोग इनकी तरफ़ खिंचे चले जाते हैं। एकादश भाव के स्वामी का लग्न में बैठना इनको असीम लाभ की संभावना कड़ी मेहनत के बाद देता है।
 
दशम भाव में लक्ष्मीनारायण राजयोग और बुद्ध आदित्य राजयोग भी है, ऐसे 2 अद्भुत योग दशम भाव में एक व्यक्ति को उत्तम दर्जे का भाग्यशाली और कर्म प्रधान व्यक्ति बनाते हैं।
 
वर्तमान में इनके लिए राहु की महादशा, व चंद्रमा की अंतर्दशा चल रही है, इनको अपने फ़ैसले सोच समझ के लेने चाहिए। अपनी सेहत पर ध्यान देना इनके लिए लाभकारी होगा।
 
अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर ध्यान केंद्रित करें एवं किसी एक्सपर्ट की सलाह ज़रूर लें और अपने अकाउंट्स को हैकिंग से बचाएँ।
 
आने वाले समय में मंगल ग्रह, जो इनकी कुंडली में धन भाव एवं भाग्य भाव का स्वामी होकर केंद्र में विराजमान हैं, यह इनके लिए लक्ष्मी प्राप्ति के योग बनाएगा और इनका  भाग्य भी बहुत अच्छे से साथ देगा।
 
हमारी तरफ़ से यशपाल शर्मा जी को बहुत बहुत शुभकामनाएं🙏🏻
 
डॉ आकांक्षा शर्मा

विश्व प्रसिद्ध भविष्यवक्ता एवं अंकशास्त्री 

Leave a Comment

Your email address will not be published.